जनपद उन्नाव में टारगेट प्वाइंट एकेडमी में मनाया गया 76वां स्वतंत्रता दिवस

0
133

उन्नाव:- एक लंबे संघर्ष के बाद 15 अगस्त 1947 को भारत को ब्रिटिश शासन से आज़ादी मिली थी। इस उपलक्ष्य में प्रत्येक वर्ष स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उन सभी स्वतंत्रता सेनानी एवं नेताओं को सम्मानित किया जाता है जिनका भारत को आज़ादी दिलाने में योगदान रहा है। स्वतंत्रता दिवस भारत का राष्ट्रीय पर्व है जिसे प्रत्येक भारतवासी पूरे उत्साह, जोश और सम्मान के साथ मनाते है। राष्ट्रीय पर्व होने के नाते इसे हर धर्म, संप्रदाय और जाति के लोग मनाते हैं। इस वर्ष भारत अपना 76वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है और इस ख़ास साल को और भी यादगार बनाने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा “आज़ादी का अमृत महोत्सव” प्रोग्राम की शुरुआत की गयी। इसके साथ ही साथ सरकार ने इस वर्ष एक नई वेबसाइट और मोबाइल ऐप लॉन्च किया है जिससे दुनिया के किसी भी कोने में बैठे भारतीय 76वां स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम का हिस्सा बन सके। इस वर्ष की थीम “Freedom Struggle, Ideas, Resolve, Actions & Achievements” रखी गई।

जनपद उन्नाव में पन्नालाल पार्क स्थिति टारगेट प्वाइंट एकेडमी में 76वां स्वतंत्रता दिवस बहुत ही धूम-धाम से मनाया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में हिन्दू जागरण मंच के प्रान्तीय मन्त्री व प्रभारी विमल द्विवेदी, केके पाठक रहे। सर्वप्रथम एकेडमी के निदेशक अतुल चौरसिया ने मुख्य अतिथि को माला पहनाकर एवं बुके देकर उनका स्वागत किया। इस दौरान बतौर मुख्य अतिथि रहे विमल द्विवेदी ने ध्वजारोहण कर एकेडमी के छात्र-छात्राओं को सम्बोधित किया और उनका मार्गदर्शन भी किया। टारगेट प्वाइंट एकेडमी के निदेशक अतुल चौरसिया ने भी छात्र-छात्राओं को सम्बोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारे कुछ महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और नेताओं ने जैसे कि महात्मा गाँधी, भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद, लाला लाजपत राय, सरदार बल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री आदि ने लगातार कई वर्षों तक ब्रिटिश सरकार का सामना किया और हमारे वतन को आज़ाद कराया। उनके इस बलिदान को हम कभी भी भुला नहीं सकते हैं और उन्हें हमेशा एक महान उत्सव और समारोह के जैसे ही दिल से याद करना चाहिए क्योंकि उन्ही की वजह से आज हम अपने देश में आज़ादी से सांस ले पा रहे हैं। इस दौरान आज़ादी का अमृत महोत्सव अभियान को लेकर भी उन्होंने अपनी राय रखी उन्होंने कहा कि “आज़ादी का अमृत महोत्सव” भारत सरकार की एक अनोखी पहल है। इसकी शुरुआत स्वतंत्रता दिवस के ठीक 75 सप्ताह पहले, 15 मार्च 2021 को की गयी थी। इस दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने साबरमती आश्रम से निकली पदयात्रा को हरी झंडी दिखा कर आयोजन का आगाज़ किया था।

फ्रीडम स्ट्रगल, आईडिया, रिजॉल्व, एक्शन और अचीवमेंट” की थीम के साथ शुरू किए गए इस प्रोग्राम का उद्देश्य नागरिक में क्रांतिवीरों के प्रति आदर और आपसी सद्भाव बढ़ाना है। इस उद्देश्य को जन-जन तक पहुंचाने के लिए ही भारतीय नागरिक सांस्कृतिक मंत्रालय की तरफ से “हर घर तिरंगा” कैंपेन की शुरुआत भी की गई। उक्त कार्यक्रम के दौरान मुख्य रूप से एकेडमी के शिक्षकगण में शिवांगी चौरसिया, विवेक द्विवेदी, सुनील वर्मा, शैलेश मिश्रा, मोहित तिवारी, शैलेंद्र त्रिवेदी एवं समस्त छात्रगण मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here