Regging in Ratlam : एमपी जूनियर्स की लाइन लगाई और तड़ातड़मारे थप्पड़, हॉस्टल वार्डन की कर दी ये हालत

0
51

रतलाम के मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का वीडियो सामने आने से मचा हड़कंप। जूनियर्स को कतार में खड़ा कर सीनियर स्टूडेंट्स ने तड़ातड़ थप्पड़ जड़े और हॉस्टल वार्डन पर बोतलें भी फेंकी। कॉलेज प्रबंधन ने संज्ञान लेते हुए अनुशासन समिति को जांच के लिए कहा।

रतलाम: रतलाम के शासकीय मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल में जूनियर्स की रैगिंग का सनसनीखेज मामला सामने आया है. इस पूरे मामले का वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. वीडियो में आधा दर्जन से ज्यादा सीनियर्स, जूनियर स्टूडेंट्स को लाइन में खड़ा कर बाकायदा उन पर थप्पड़ों की बरसात कर रहे हैं. इतना ही नहीं, जब वार्डन डॉ. अनुराग जैन को रैगिंग की शिकायत मिली और वह वहां गए तो उन पर कुछ छात्रों ने शराब की बोतलें फेंक दीं. इस दौरान वे बाल-बाल बच गए. इस मामले पर अनुशासन समिति का कहना है कि दोषी पाए जाने पर रैगिंग के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सकती है.

गौरतलब है कि रैगिंग का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मेडिकल कॉलेज में बवाल मच गया. हालांकि, फिलहाल यह पता नहीं चला है कि वीडियो कब का है. लेकिन, जब रैगिंग हो रही थी, तब किसी जूनियर ने इसे रिकॉर्ड कर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया. जूनियर स्टूडेंट ने इसे साक्ष्य बनाकर पूरे मामले की शिकायत कॉलेज की अनुशासन समिति से की है. उसने कॉलेज प्रशासन के साथ-साथ दिल्ली तक भी इस मामले को पहुंचाया है. बताया जा रहा है कि रैगिंग करने वालों की पहचान हो गई है. अनुशासन समिति के सूत्रों की मानें तो जूनियर्स की रैगिंग लेने वाले सीनियर्स पर गाज गिरना तय है.

कॉलेज प्रशासन चुप, मचा हड़कंप

बताया जा रहा है कि जैसे ही ये वीडियो शासकीय मेडिकल कॉलेज प्रबंधक तक पहुंचा, वैसे ही हड़कंप मच गया. शुरुआत में तो किसी को यकीन नहीं हुआ कि मामला इसी कॉलेज के हॉस्टल का है. लेकिन, धीरे-धीरे सच्चाई सभी के सामने आ गई. उसके बाद इस मामले पर प्रशासन कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हुआ. दूसरी ओर, कॉलेज की अनुशासन समिति ने आनन-फानन में इस पर एक्शन लेना शुरू कर दिया है. अनुशासन समिति का कहना है कि अगर शिकायत सही पाई जाती है तो दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here