कानपुर में भाजपा नेत्री की चौदह वर्ष की बेटी अक्षरा ने लगाई फांसी और सुसाइड के दौरान घर में कोई नहीं था, अक्षरा संघ की शाखा प्रमुख थी

0
67

कानपुर:- जनपद कानपुर में भाजपा नेत्री की बेटी ने फांसी लगाकर जान दे दी। सुसाइड के दौरान घर पर कोई भी नहीं था। भाई घर पहुंचा तो बहन का शव फंदे से लटकता मिला। आनन-फानन में परिजन उसे हैलट लेकर पहुंचे लेकिन वहाँ डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

परिवार के लोग घर से बाहर थे

मीनाक्षी अपनी माँ को लेकर अस्पताल गई थी जबकि पिता अंजनी ऑफिस गए थे। भाई भी किसी काम से घर से बाहर था। कुछ देर बाद भाई श्रेयांश घर लौटा तो दरवाजा बंद था। आवाज लगाने के बाद भी दरवाजा नहीं खुला तो पड़ोसियों की मदद से दरवाजा तोड़कर अंदर गए और कमरे में जाकर देखा तो अरु फंदे से लटकी थी। श्रेयांश ने परिवारवालों को सूचना दी और उसे हैलट लेकर पहुंचा। जहाँ जाँच के बाद डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

पुलिस को हॉस्पिटल से मिली सुसाइड की सूचना

अंजनी कुमार मिश्र केशव नगर डब्ल्यू ब्लॉक में अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनका टूर एंड ट्रैवलर्स का बिजनेस है। उनकी बेटी अक्षरा उर्फ अरु (14) हाईस्कूल की छात्रा थी। वह संघ में केशव नगर की शाखा प्रमुख भी थी। लोगों के मुताबिक वह पढ़ने में काफी अच्छी थी। माँ मीनाक्षी निराला नगर से भाजपा की मंडल मंत्री हैं।

थाना प्रभारी के अनुसार घर में जाँच के दौरान कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला

हनुमंत विहार थाना प्रभारी अभिलाष मिश्रा ने बताया कि देर रात घर में जाँच के दौरान कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला। परिजन भी सुसाइड की कोई वजह नहीं बता सके यहाँ तक कि परिजनों ने सुसाइड की सूचना भी पुलिस को नहीं दी। हैलट से मामले की जानकारी मिली तो पुलिस जाँच करने पहुंची। उस्मानपुर चौकी प्रभारी सतपाल सिंह ने बताया कि अक्षरा घर में अकेले मौजूद थी और इस दौरान उसने पंखे के कुंडे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बड़ा भाई श्रेयांश लौटा तो सीढ़ी के रास्ते का दरवाजा बंद था। उसने किसी तरह मोहल्ले वालों की मदद से दरवाजा तोड़कर घर के अंदर घुसा तो बहन का शव फंदे से लटकता मिला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here