*उन्नाव में दिवंगत राज्यमंत्री के बेटे रजोल सिंह की 3.18 करोड़ की संपत्ति हुई कुर्क*

0
63

*उन्नाव:-* जनपद उन्नाव में कुछ माह पूर्व दलित युवती का अपहरण कर दुष्कर्म करने के बाद हत्या कर शव को गाड़ दिए जाने के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजे गए पूर्व राज्यमंत्री दिवंगत फतेहबहादुर सिंह के पुत्र रजोल सिंह की 3.18 करोड़ की संपत्ति कुर्क की गई है। रजोल सहित छह पर पुलिस ने गैंगस्टर की कार्यवाही की थी। कुर्क संपत्ति में दिव्यानंद आश्रम का कुछ हिस्सा भी शामिल है।

हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त रजोल सिंह उर्फ अरुण कुमार सिंह निवासी कल्याणी देवी के विरुद्ध पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्यवाही की थी। जिलाधिकारी रवींद्र कुमार ने गैंगस्टर रजोल की संपत्ति कुर्क करने का आदेश दिया था। जिसके बाद शनिवार को क्षेत्राधिकारी नगर आशुतोष कुमार, उप जिलाधिकारी सदर सत्यप्रिय सिंह की मौजूदगी में पुलिस ने रजोल की 03 करोड़ 18 लाख 46 हजार 969 रुपये की अचल संपत्ति कुर्क की है। पुलिस का आरोप हैं कि उक्त संपत्ति समाज विरोधी क्रियाकलाप और अपराध के बल पर अर्जित की गई है। पुलिस के अनुसार दलित युवती से दुष्कर्म के बाद हत्या कर शव गाड़ देने की घटना के मुख्य अभियुक्त रजोल ने अपने आर्थिक और भौतिक लाभ के लिए अवैध तरीके से गैंग बनाकर गरीब लोगों की जमीन पर कब्जा कर अवैध रूप से बेचकर अपराध में आर्थिक लाभ प्राप्त किया है और जो संपत्ति कुर्क की गई है उसमें दिव्यानंद आश्रम का कुछ हिस्सा, कल्याणी देवी सिविल लाइन, पीतांबर नगर और नगरपालिका उन्नाव के अंदर और बाहर की भूमि शामिल है। कार्यवाही के दौरान क्षेत्राधिकारी नगर आशुतोष कुमार, उप जिलाधिकारी सदर सत्यप्रिय सिंह, कोतवाली प्रभारी ओपी राय, लेखपाल कुलदीप और भारी पुलिस बल मौजूद रहा।

*- खतौनी संख्या 1428 से 1433 के खाता संख्या 46 कुल भूमि 0.919 हेक्टेयर पर निर्मित द्विव्यानंद आश्रम भवन व उससे लगी भूमि जिसकी अनुमानित कीमत 2,48,29,000 रुपये है।*

*- कल्यणी देवी सिविल लाइन भवन संख्या 71/01 जिसकी भूमि की अनुमानित कीमत 8,56,660 रुपया है व निर्मित भवन की कीमत 23,45,564 रुपये है।*

*-पीतांबर नगर भवन संख्या 1399 जिसकी अनुमानित कीमत 25 लाख 99 हजार रुपये है।*

*-अंदर नगर पालिका उन्नाव भूमि जिसका गाटा संख्या 1425 से 1430 खाता संख्या 6444 खसरा संख्या 2517 जिसकी अनुमानित कीमत 07,15,605 रुपये है।*

*- बाहर नगर पालिका उन्नाव भूमि गाटा संख्या 1420 से 1433 खाता संख्या 447 खसरा संख्या 1345 जिसकी अनुमानित कीमत 05,01,140 रुपये है।*

*उक्त घटना में यह था पूरा मामला*

08 दिसंबर 2021 को 22 वर्षीय युवती लापता हुई थी। उसकी माँ ने सपा सरकार में मंत्री रहे स्व. फतेह बहादुर सिंह के बेटे रजोल सिंह पर उसकी अपहरण के बाद हत्या करने का आरोप लगा गुमशुदगी दर्ज कराई थी। 24 जनवरी को उसकी माँ ने लखनऊ जाकर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के काफिले के सामने आत्मदाह का प्रयास किया था। 25 जनवरी को रजोल और उसके साथी सूरज को जेल भेज दिया गया था। 10 फरवरी को युवती का शव मंत्री के आश्रम के बगल प्लाट में जमीन से बरामद हुआ था और युवती की माँ के आरोप के आधार पर पूर्व ब्लाक प्रमुख अशोक सिंह और युवती के गांव के प्रधान संजय सहित कई अन्य लोगों को जेल भेजा गया था। इसके बाद मामले में आरोपित एक अन्य महिला रिंकी को भी जेल भेजा गया था और सभी आरोपितों पर गैंगस्टर की कार्यवाही की गई थी।

*जेल में बंद है ​​​​​​​गैंगस्टर का आरोपी*

गैंगस्टर एक्ट के मामले में की गई कार्यवाही का आरोपी रजोल सिंह को 27 जनवरी को पुलिस ने जेल भेज दिया था और दलित युवती हत्याकांड के मामले में वह आरोपी है। उसके भाई अशोक सिंह सहित अन्य आरोपी भी अभी जेल में बंद है।

*दलित युवती की हत्या के बाद कसता जा रहा शिकंजा*

उन्नाव सदर कोतवाली क्षेत्र के काशीराम में रहने वाली दलित युवती की हत्या कर आरोपी रजोल सिंह ने उसे दिव्यानंद आश्रम में दफन किया था। पुलिस ने दस फरवरी को शव को बरामद किया था तभी से आरोपी रजोल सिंह पर लगातार प्रशासन का शिकंजा कसता जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here