उन्नाव में जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान कहा डॉक्टर नही तो मरीज किससे कराएंगे इलाज, खामियां मिलने पर जिम्मेदारो को जमकर लगाई फटकार

0
67

उन्नाव:- आज जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ठाकुरखेड़ा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण करने पहुंचे। जहां अस्पताल में हर जगह अनियमितताएं मिली जिसके बाद जिलाधिकारी ने प्रभारी चिकित्साधिकारी सहित सभी जिम्मेदारों को फटकार लगाई। उन्होंने कहा जब समय से डॉक्टर नहीं आयेंगे तो मरीज कैसे इलाज कराने आयेंगे। मरीज डाक्टरों से बेहतर उपचार की उम्मीद रखता है लेकिन यहां उपचार तो दूर डाक्टर ही समय से नही पहुंचते है।

मरीजों ने अस्पताल में बन्द पड़े ताले का वीडियो सोशल मीडिया पर किया था वायरल

सीएचसी में उपचार कराने के लिए आने वाले मरीज डाक्टरों का घण्टो इंतजार करते है। कभी-कभी गम्भीर मरीजों को ऐसी स्थिति में निजी अस्पताल में जाना पड़ता है। पूर्व में आजाद नगर के रहने वाले दो मरीजों ने अस्पताल में बन्द पड़े ताले का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया था। जिसके बाद सीएचसी में तैनात डाक्टरों की कार्यशैली की पोल खुली थी।

अस्पताल में अव्यवस्थाओं के चलते कैसे आएंगे मरीज

जिलाधिकारी रविंद्र कुमार आज आजाद मार्ग के किनारे स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में अचानक पहुंच गये। उनके साथ मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सत्यप्रकाश भी थे। उन्होंने ओपीडी रजिस्टर की जांच पड़ताल की जहां केवल पच्चीस मरीजों की ही एंट्री मिली। जिस पर उन्होंने कहा कि इतना बड़ा अस्पताल होने के बावजूद पच्चीस मरीज भारी भरकम स्टाफ क्या कर रहा है। लैब है तो अस्सिटेंट गायब है ऐसे में मरीज कैसे आयेंगे। सरकार की मंशा के अनुरूप कार्य नहीं होगा तो लोग परेशान होंगे। उन्होंने नाराजगी जाहिर की और प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ0 विवेक गुप्ता अल्टीमेटम दिया। उन्होंने औषधि कक्ष की भी जांच पड़ताल की जहां फ्रिज भी उपलब्ध नहीं मिला। स्टाफ पूरी तरीके से हीलाहवाली करते पाया गया। जिस पर उन्होंने सीएमओ को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि जिम्मेदारी के साथ अस्पताल की मॉनीटरिंग करे जिससे मरीजों को समुचित इलाज मिल सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here