20 फीसदी ट्विटर अकाउंट फर्जी, डील ‘आगे नहीं बढ़ सकती’ जब तक स्पष्टता न हो: मस्क।

0
147

Elon Muskने माइक्रोब्लॉगिंग साइट Twitter को खरीदने के लिए एक शर्त रख दी है। मस्क ने मंगलवार को कहा कि ट्विटर के साथ जो कारोबारी सौदा हुआ है, उस पर वह तभी आगे बढ़ेंगे जब कंपनी के सीईओ फर्जी खातों की जानकारी सार्वजनिक करेंगे।

मस्क के मुताबिक ट्विटर के सीईओ को इस बात का प्रमाण देना होगा कि माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर स्पैम अकाउंट्स 5 फीसदी से भी कम है। एलॉन मस्क और पराग अग्रवाल ट्विटर पर मौजूद बॉट अकाउंट्स को लेकर असामने सामने हैं। दोनों के बीच की बहस अब ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तक पहुंच गई है।

मस्क ने ट्विटर को 44 अरब डॉलर में खरीदने की डील को होल्ड कर दिया गया है। उन्होंने ट्विटर पर मौजूद बॉट्स या स्पैम अकाउंट की सही जानकारी नहीं मिलने वजह से डील होल्ड की है। एलन मस्क (Elon Musk) का कहना है कि उनका प्रस्ताव ट्विटर के एसईसी फाइलिंग के सटीक होने पर आधारित था।

कल, ट्विटर के सीईओ ने सार्वजनिक रूप से 5% से कम अकाउंट के फर्जी होने के सबूत दिखाने से इनकार कर दिया। यह सौदा तब तक आगे नहीं बढ़ सकता जब तक इसका समाधान नहीं हो पाता है। पराग अग्रवाल ने बताया था कि कैसे ट्विटर स्पैम और फर्जी खातों से लड़ रहा है।

उन्होंने कहा था कि ट्विटर ‘स्पैम बोट’ से निपटने की कवायद में जुटा है और साइट पर मौजूद पांच फीसदी से भी कम अकाउंट फर्जी हैं। पराग अग्रवाल के इस ट्वीट के जवाब में मस्क ने आपत्ति जताई और 44 अरब डॉलर के ट्विटर अधिग्रहण सौदे को रोक दिया।

बता दें कि सोमवार को कारोबारी दिन खत्म होने पर ट्विटर के शेयर 8.2 परसेंट गिरकर बंद हुए हैं। स्टॉक की वैल्यू गिरने की वजह मस्क और ट्विटर की डील टूटने को लेकर चल रहे कयास हैं।

एलॉन मस्क और पराग अग्रवाल ट्विटर पर मौजूद बॉट अकाउंट्स को लेकर असामने सामने हैं। दोनों के बीच की बहस अब ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तक पहुंच गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here