उन्नाव में विधिक जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन:

0
90

उन्नाव:- सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने बताया कि उ०प्र० राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ की कार्ययोजना वर्ष 2022-23 के क्रियान्वन के क्रम में माननीय जिला जज/ अध्यक्ष श्री हरवीर सिंह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, उन्नाव एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, उन्नाव श्री रघुवंश मणि सिंह द्वारा आज दिनांक 08.05.2022 को उच्च प्राथमिक विद्यालय ग्राम सन्नी सरायं, गोरेपुरवा उन्नाव में मातृ दिवस एवं कोविड-19 महामारी के दौरान माता-पिता दोनों को खो चुके बच्चों के अधिकारों व मध्यस्थ, राष्ट्रीय लोक अदालत के संबंध में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया|

उक्त कार्यक्रम में श्री अमित कुमार रावत नामिका अधिवक्ता, श्री रविकांत रावत लेखपाल, सुश्री मृदुला मिश्रा नायब तहसीलदार, श्री राहुल श्रीवास्तव, श्री अमित गुप्ता, पराविधिक स्वयंसेवक श्री रजनीश व बड़ी संख्या में महिलाएं व जनमानस उपस्थित रहें|

माननीय जिला जज/ अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, उन्नाव श्री हरवीर सिंह जी ने उक्त शिविर में उपस्थित माताओं बच्चों का आभार व्यक्त किया तथा विधिक सहायता होती क्या है इस विषय पर विस्तार से जानकारी प्रदान की और कहा जिन लोगों के पास आर्थिक कारणों से न्यायालय जाकर अपनी क़ानूनी समस्या का समाधान करने में असमर्थ है वो जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के माध्यम से सहायता प्राप्त कर सकते है | माननीय जिला जज महोदय द्वारा कहा गया कि पारिवारिक झगड़ों में अक्सर धैर्य की कमी होती है| अतः हमे धैर्य और आपसी सूझ-बुझ से पारिवारिक झगड़ो का समाधान करना चाहिए| समाज में बड़ा कौन है कोई नहीं ईश्वर बड़ा है, दो व्यकित्यों के मध्य झगडा होने पर यदि दोनों व्यक्ति दो कदम पीछे हट जाये तो झगडा स्वयं ख़त्म हो जायेगा| मातृ दिवस के उपलक्ष्य में मा० जिला जज महोदय ने कहा कि जगत जननी माँ अपने बच्चों की पहली शिक्षक और दोस्त होती है| हमें अपनी माताओं की आज्ञा का पालन करना चाहिए तथा उनका सम्मान करना चाहिए| एक माँ के लिए अपने बच्चों का प्यार और सम्मान से बढ़कर कोई दूसरा उपहार नहीं है|

सचिव महोदय श्री रघुवंश मणि सिंह द्वारा मध्यस्थ, पराविधिक स्वयमसेवक, पैनल अधिवक्ता एवं जिला वधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा प्रदान की जाने वाली निःशुल्क क़ानूनी सहायता के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गयी साथ ही प्रस्तावित आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत दिनांक-14.05.2022 को अपने वाद को सुलह समझौते के आधार पर सुलझाने के लिए आम जन मानस से अपील की गयी|

श्री अमित कुमार रावत नामिका अधिवक्ता ने जनता को विधिक जागरूकता शिविर के उद्देश्यों एवं निःशुल्क कानूनी सहायता के बारे में जनसमूह को विस्तार से जानकारी प्रदान की एवं आज मातृ दिवस के अवसर पर मातृ दिवस मनाये जाने के उद्देश्य के बारे में बताया। श्री रावत जी ने निःशुल्क कानूनी सहायता के बारे में विस्तार से बताया |

नायब तहसीलदार सुश्री मृदुला मिश्रा ने यह बताया कि कोविड-19 के समय कई बच्चों ने माँ-बाप को खोया है उनको शासन की तरफ से 50 हजार रूपये की अनुदान राशि दी जाती है|साथ ही कृषि कास्तकार आदि को दुर्घटना हो जाती है तो पोस्टमॉर्टेम कराने के बाद 05 लाख रुपये राज्य सरकार द्वारा दिए जाते है| जमींन जोतने वाले बटाईदार को भी भूमि मालिक के हिसाब से सुविधायें दी जाती है| फसल बीमा योजना एवं तहसील समाधान दिवस के बारे में लोगों को जागरूक किया गया| अंत में नायब तहसीलदार महोदय द्वारा मा० जिला जज साहब एवं सचिव महोदय व उपस्थित समस्त अतिथियों एवं जनमानस का आभार व्यक्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here