सफाई देने के लिए उन्नाव की नगर पालिका अध्यक्ष शासन में तलब

0
52

उन्नाव:- जनपद उन्नाव की नगर पालिका अध्यक्ष और तत्कालीन ईओ पर लगे भ्रष्टाचार के मामलों में एडीएम की जांच रिपोर्ट के बाद अब शासन ने नगर पालिका अध्यक्ष को अपना पक्ष रखने के लिए तलब किया है। अपर मुख्य सचिव नगर विकास ने इसके लिए उनको पांच मई का समय दिया है। जिसमें नगर पालिका अध्यक्ष को खुद पर लगे आरोपों की सफाई देनी होगी। लगभग आठ से दस माह से उक्त मामले की जांच रिपोर्ट शासन में कार्यवाही के लिए लंबित है लेकिन आरोपित पक्ष के न पहुंचने से कोई निर्णय नहीं हो पा रहा है। इसके बाद शासन अब आगे की कार्यवाही तय करेगा।

उन्नाव नगर पालिका द्वारा निराला प्रेक्षागृह के सुंदरीकरण के नाम पर तैयार कराई गई डिजाइन के नाम पर तय सीमा से अधिक भुगतान और वह भी बिना नक्शा, सामुदायिक शौचालय निर्माण पुराने शौचालय की मरम्मत करा उसे नया दिखा कर भुगतान लेने और शौचालय निर्माण में नगर पालिका अध्यक्ष के लिए अनुबंध पर ली गई गाड़ी के नाम पर अपव्य करने और उसके प्रयोग अपने व्यक्तिगत कार्यों में करने जैसे कई गंभीर आरोपों के साथ उन्नाव के भाजपा नेता अनुराग अवस्थी ने शिकायत की थी। जिसके बाद जिलाधिकारी के निर्देश पर एडीएम द्वारा गठित चार सदस्यीय जांच कमेटी ने जांच की और रिपोर्ट को जिलाधिकारी के ही माध्यम से शासन को भेज दी। इसमें जाँच कमेटी ने नगर पालिका अध्यक्ष और तत्कालीन अधिशासी अधिकारी को दोषी पाते हुए रिपोर्ट भेजी थी। शासन में उक्त प्रकरण की पत्रावली करीब आठ से दस माह से लंबित पड़ी है जिसकी अभीतक कोई सुनवाई नहीं हुई है। 27 जनवरी को नगर पालिका अध्यक्ष ऊषा कटियार को अपना पक्ष रखने के लिए अपर मुख्य सचिव नगर विकास रजनीश दुबे ने बुलाया था लेकिन स्वास्थ्य कारणों से नगर पालिका अध्यक्ष वहाँ नहीं पहुंची थी और अब एक बार फिर सचिव नगर विकास ने पांच मई को नगर पालिका अध्यक्ष ऊषा कटियार और तत्कालीन अधिशासी अधिकारी आरडी श्रीवास्तव को बुलाया है। जिसके बाद ही शासन आगे की कार्यवाही तय करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here