उन्नाव में लूट के तीन आरोपी गिरफ्तार, तीन दिन पूर्व लूट की दो घटनाओं को दिया था अंजाम

0
107

उन्नाव:- जनपद उन्नाव में बीते तीन दिन पूर्व मौरावा थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक ही दिन में दो लूट की घटनाओं से इलाके में हड़कंप मच गया था। पुलिस ने वादी की तहरीर पर मौरावां थाने में मुकदमा पंजीकृत किया था। खुलासे के लिए सीओ के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया था। पुलिस ने उन्नाव सहित गैर जनपद रायबरेली में दबिश देकर तीन शातिर लुटेरों को गिरफ्तार किया है। लुटेरों ने दोनों घटनाओं को करने का जुर्म भी कबूल किया है। पुलिस ने आज तीनों शातिर लुटेरों को जेल भेजा है लेकिन गैंग का मुख्य लीडर अभी भी फरार है जिसकी पुलिस तलाश कर रही है।

उन्नाव पुलिस अधीक्षक दिनेश त्रिपाठी ने आज पुलिस लाइन में खुलासा करते हुए बताया कि मौरावां थाना क्षेत्र के अंतर्गत 19 अप्रैल को दोपहर के समय शादी समारोह में जा रहे महिला के जेवरात लूट लिए गए थे। 3 घंटे बाद उसी स्थान पर दूसरी घटना को लुटेरों ने अंजाम दिया था जिसके बाद दो लूट होने से जनपद में हड़कंप मचा हुआ था। सीओ पंकज सिंह के नेतृत्व में खुलासे के लिए पुलिस अधीक्षक ने टीम का गठन किया था। टीम ने अलग-अलग जगहों पर मुखबिर की सूचना पर छापेमारी की और लुटेरों का पता लगाया। आज फिर मौरावां थाना क्षेत्र के बकता खेड़ा के पास बबूल के जंगलों में लूट की घटना को अंजाम देने के लिए योजना बना रहे थे। इसी दौरान टीम ने जनपद रायबरेली के रहने वाले अमरेश यादव, गौरव सिंह और गौरव यादव को गिरफ्तार किया है। साथ में उन्होंने पूर्व में हुई दोनों लूट की घटनाओं को कबूल किया है इसके साथ ही साथ लूट का माल भी बरामद किया है लेकिन इन सभी का गैंग लीडर अमन पासी अभी भी फरार है उसकी तलाश पुलिस टीम कर रही है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि यह सभी रेकी करने के बाद लूट की घटनाओं को अंजाम देते थे। उनके खिलाफ दर्जन भर से अधिक मुकदमे दर्ज हैं और तीनों लुटेरों को न्यायालय में पेश किया गया है। पुलिस अधीक्षक ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि दो हजार रुपए नगद, एक मोबाइल फोन घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल और एक बोलेरो कार को बरामद किया गया है। इसके साथ ही एक लुटेरे के पास से एक तमंचा और दो कारतूस बरामद हुए हैं और पकड़े गए तीन लुटेरों में दो के खिलाफ एक दर्जन से अधिक मुकदमे मौरावां थाना में ही दर्ज है। जिसमें गौरव सिंह और अमरेश यादव के खिलाफ लूट के मुकदमे पंजीकृत हैं। लुटेरे जनपद उन्नाव और जनपद रायबरेली में लूट की घटनाओं को अंजाम देते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here