पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा हिंदी में भी मेडिकल की पढ़ाई कर बन सकेंगे डाक्टर, भारत में निजी मेडिकल कॉलेज की फीस होगी आधी।

0
159

भारत के कई छात्र-छात्राएं मेडिकल की पढ़ाई करने के लिए यूक्रेन और रूस जैसे देश में जाते हैं। रूस द्वारा यूक्रेन पर लगातार हमले के बाद भारत के कई छात्र-छात्राओं के यूक्रेन में फंसे होने की खबर आई थी। इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कल यानी गुरुवार को प्राइवेट मेडिकल कालेजों की फीस आधी करने की जानकारी दी है।

उन्होंने गरीबों के हित में एक और बड़ा फैसला किया है। उन्होंने कहा कि गरीब बच्चा अंग्रेजी नहीं पढ़ पाता तो हिंदी में मेडिकल कर सकेगा। कुछ दिन पहले ही पीएम ने निजी विश्वविद्यालयों से मेडिकल की सस्ती शिक्षा मुहैया कराने की अपील की थी।

उन्होंने यह भी कहा था कि सरकार ऐसी व्यवस्था करेगी जिससे देश में ही मेडिकल की पढ़ाई के अवसर मिलें और छात्रों को विदेश न जाना पड़े। कुछ दिन पहले ही पीएम ने निजी विश्वविद्यालयों से मेडिकल की सस्ती शिक्षा मुहैया कराने की अपील की थी। उन्होंने यह भी कहा था कि सरकार ऐसी व्यवस्था करेगी जिससे देश में ही मेडिकल की पढ़ाई के अवसर मिलें और छात्रों को विदेश न जाना पड़े।

उत्तर प्रदेश के चंदौली और जौनपुर में गुरुवार को जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम नरेन्द्र मोदी ने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश की विकास यात्रा को जारी रखने के लिए चुनाव में भाजपा की जीत आवश्यक है। कहा, ऐसे समय में जब दुनिया के सामने मौजूद गंभीर चुनौतियों का सामना करने के लिए भारत को मजबूत होने की जरूरत है, विपक्ष वोट के लिए समाज को बांटने की कोशिश कर रहा है।

आपको बता दें कि भारत ही नहीं बल्कि कई अन्य देशों के बच्चे रूस और यूक्रेन जाकर मेडिकल की पढ़ाई करते हैं। जब सरकार ने उनके परिजनों से इस पर बात कि तो उनका साफ़ तौर पर कहना था कि भारत के प्राइवेट मेडिकल कॉलेज की फीस काफी ज्यादा है।

गरीब के बच्चे मजबूरन रूस और यूक्रेन जाकर मेडिकल की पढ़ाई करने को मजबूर हो जाते हैं। हालांकि अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साफ़ तौर पर कहा है कि निजी मेडिकल कॉलेज की फीस आधी कर दी जाएगी। ताकि गरीब के बच्चे भी भारत में रहकर प्राइवेट कॉलेज से मेडिकल की पढ़ाई कर डॉक्टर बन सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here