कपिल सिब्बल के ‘सबकी कांग्रेस, घर की कांग्रेस’ वाले बयान पर Rahul Gandhi ने साधी चुपी।

0
86

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने एक बार फिर से नेतृत्व को लेकर सवाल उठाया है। उन्होंने कांग्रेस के खराब प्रदर्शन को लेकर गांधी परिवार पर अब तक का सबसे बड़ा हमला बोला है।

इंडियन एक्सप्रेस को दिए साक्षात्कार में सिब्बल ने गांधी परिवार को नेतृत्व छोड़ने के लिए कहा है और किसी अन्य नेता को लीडरशिप देने की बात कही है। रविवार को कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक के बाद एक इंटरव्यू में सिब्बल ने कहा कि वह ‘सब की कांग्रेस’ बनाना चाहते हैं लेकिन कुछ लोग ‘घर की कांग्रेस’ बनाना चाहते हैं।

सिब्बल ने साफ कह दिया कि गांधी परिवार को नेतृत्व की भूमिका से हटकर किसी और को पार्टी का नेतृत्व करने का मौका देना चाहिए। सिब्बल ने कहा कि 2022 के विधानसभा चुनावों में जो भी लोग कांग्रेस नेतृत्व के काफी करीब थे, वे छोड़कर चले गए।

मैं आंकड़े देख रहा था। इस पर गौर करना चाहिए कि 2014 के बाद 177 सांसदों और विधायकों के अलावा 222 उम्मीदवारों ने भी कांग्रेस छोड़ दी। किसी दूसरी पार्टी में इस तरह का पलायन नहीं देखा गया है।

सिब्बल ने कहा कि हमें समय-समय पर अपमानजनक हार का सामना करना पड़ा है। जिन राज्यों में हम प्रासंगिक होने की उम्मीद करते हैं, वहां वोटों का प्रतिशत लगभग न के बराबर है। उत्तर प्रदेश में हमारे पास 2.33 फीसदी वोट शेयर है। यह मुझे आश्चर्य नहीं करता। हम मतदाताओं से जुड़ने में असमर्थ हैं।

सिब्बल ने कहा कि हम सामने से नेतृत्व करने में असमर्थ हैं, लोगों तक पहुंचने में असमर्थ हैं। हमारी पहुंच सार्वजनिक बहस का विषय है। जैसा कि गुलाम नबी आजाद ने कल कहा था कि एक नेता में पहुंच, जवाबदेही और स्वीकार्यता के गुण होने चाहिए। बता दें कि कपिल सिब्बल के इतना कहने पर भी राहुल गाँधी ने अब भी चुप्पी सधी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here