यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की सैनिक की वर्दी पहन के युद्ध क्षेत्र में कूद पड़े, वायरल हो रही तस्वीरें, जाने कितनी सच्चाई है इस खबर में।

0
165


रूस जैसे बड़े और ताकतवर देश के हमले के बावजूद यूक्रेन झुकने का नाम नहीं ले रहा है। यूक्रेन का कहना है कि वो किसी भी कीमत पर सरेंडर नहीं करने जा रहे हैं। इस पूरे फैसले में सबसे बड़ा नाम यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की का है, जो लगातार अपनी सेना का मनोबल बढ़ा रहे हैं और मदद के लिए अलग-अलग देशों से बात कर रहे हैं।

बता दें कि खूनी जंग के बीच इन दिनों यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की की एक तस्वीर भी वायरल हो रही है ।दावा किया जा रहा है कि आर्मी की वर्दी पहन कर वो खुद जंग के मैदान में उतर गए हैं। क्या सच में जेलेंस्की युद्ध के मैदान में कूद पड़े हैं।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की की सैन्य पोशाक पहने पुरानी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर साझा किया गया है, जिसमें उपयोगकर्ताओं ने गलत तरीके से दावा किया है कि यह राष्ट्रपति को 24 फरवरी, 2022 को यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के बाद लड़ते हुए दिखे हैं।

फेसबुक से लेकर ट्विटर हर जगह यूजर्स कह रहे हैं कि जेलेंस्की खुद युद्ध के मोर्चे पर पहुंच चुके हैं। साथ ही दावा किया जा रहा है कि राष्ट्रपति उन इलाकों का दौरा कर रहे हैं, जहां रूसी सेना ने हमले किए हैं। ये तस्वीरें खूब वायरल हो रही हैं। वो किसी सैनिक की तरह नजर आ रहे हैं।

जेलेंस्की सेना की ही वर्दी में दिख रहे हैं। उनके आसपास सेना के जवान भी खड़ें है। एक यूजर ने फोटो शेयर करते हुए ये लिखा कि इस दौरान राष्ट्रपति ने देश के सैनिकों का हौसला भी बढ़ाया और रूस को कड़ा जवाब देने की कोशिश की।

बता दें कि सैन्य वर्दी पहने ज़ेलेंस्की की तस्वीरें पुरानी हैं, जो दिसंबर 2021 में ली गई थीं। इसा छवि में देखा जा सकता है कि यूक्रेन के राष्ट्रपति अपने लोगों के लिए लड़ने के लिए अग्रिम पंक्ति में हैं। राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने हथियार उठा लिए हैं और रूसी आक्रमण को रोकने के लिए सैनिकों में शामिल हो गए हैं।”

हालांकि ये तस्वीरें कई महीने पुरानी हैं। ये फोटो समाचार एजेंसी AFP की है और पहले कीव पोस्ट में छप चुकी है। ये तस्वीरें एक साल पुरानी है। पहली बार ज़ेलेंस्की की ये तस्वीरें 11 फरवरी 2021 को दुनिया के सामने आई थी। वो G7 एम्बेसेडर के दौरान सेना की वर्दी में दोबास गए थे।

दूसरी तस्वीर 21 अप्रैल, 2021 को रॉयटर्स द्वारा प्रकाशित एक न्यूज़ रिपोर्ट में देखी जा सकती है। तस्वीर के कैप्शन से पता चलता है कि इसे 9 अप्रैल, 2021 को क्लिक किया गया था। इस तस्वीर के साथ लिखा था, ‘यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने रूस के साथ फ्रंटलाइन के पास सशस्त्र बलों की स्थिति का दौरा किया।’ यानी दोनों तस्वीरें तो सही है। लेकिन इस पर caption गलत लिखे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here