आज का पंचांग एवं राशिफल

0
135

03 फरवरी 2022

सम्वत् -2078 ।
सम्वत्सर – राक्षस (आनंद)।
मास – माघ।
पक्ष – शुक्ल।
दिन – गुरुवार ।
ऋतु – शिशिर।
तिथि – द्वितीया दिन – 08:24 मि.तक उपरांत तृतीया।
नक्षत्र – शतभिषा रात्रि – 07:04 मि. तक उपरांत पूर्वाभाद्रपद।
योग – परिघ रात्रि – 12:02 मि. तक उपरांत शिव।
पंचक – दूसरा दिन।
भद्रा – नहीं है।
मृत्युबाण – नहीं है।
मूल – नहीं है।
चंद्र राशि – कुंभ।
सूर्य राशि – मकर।
सूर्य नक्षत्र – श्रवण।
दिशाशूल – दक्षिण में।
अभिजित मुहूर्त – नहीं है।
राहुकाल – दिन – 01:30 मि. से 03:00 मि. तक।
सूर्योदय – 06:37 मि.।
सूर्यास्त – 05:31 मि.।
व्रत – कुछ नहीं।
पर्व – कुछ नहीं।

आज विशेष – रवि योग रात्रि – 03:56 मि. से।

कल विशेष – विनायक गणेश चतुर्थी व्रत,कुन्द चतुर्थी आज कुन्द पुष्प से भगवान विष्णु का पूजन करना चाहिए,तिल चतुर्थी,ढुण्ढिराज व्रत,उमा चतुर्थी,सोपपदा चतुर्थी,बेदारंभ हेतु उत्तम,भद्रा मृत्युलोक की रात्रि – 07:12 मि. से।

मेष राशि – आज यात्रा से लाभ होगा। नए अवसर मिलेंगे, शत्रु पक्ष निर्बल होगा। साथी सहयोग करेंगे। रुके हुए कार्य पूर्ण कर लेना आज बेहतर है, इच्छाएं शीघ्र पूर्ण होंगी। अच्छा अवसर है। रुके कार्य अभी निपटा सकते हैं, किस्मत का पूरा साथ मिलेगा। कुछ धार्मिक कार्य भी करेंगे। निवेश भी आपके लिए लाभदायक है।

वृष राशि – आज कार्यों में विघ्न आ सकते हैं। स्थान परिवर्तन की चिंता से मन परेशान हो सकता है। यात्रा में असुविधा रहेगी। चाहकर भी मन को शांति नहीं मिलेगी। गुरु मंत्र का जप करें। किसी कार्य में परेशानी उठानी पड़ सकती है। पिता और पुत्र में मतभेद हो सकता है।

मिथुन राशि – आज आपका प्रभाव व कार्यक्षेत्र बढ़ेगा। विशिष्ट लोगों से संपर्क बनेंगे, यात्रा सुखद रहेगी और उन्नति का समाचार मिलेगा। शत्रु निर्बल रहेंगे और आपके प्रभाव से उनकी क्षमता कम होगी। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। सभी प्रकार के सुख की प्राप्ति होगी। अन्न-वस्त्र इत्यादि का लाभ होगा।

कर्क राशि – आज जीवन में उतार-चढ़ाव व बाधाओं के बावजूद धन लाभ होगा। आज का कर्म आपके कल का भविष्य बनाएगा अतः सोच-समझकर ही निर्णय लें। सारे काम आसानी से बनेंगे। बुद्धि विवेक से काम लेंगे तो सभी कार्यों में सफलता प्राप्‍त करेंगे। शत्रुओं पर विजय और धन-मान प्रतिष्ठा प्राप्त होगी।

सिंह राशि – आज मन में सकारात्मक विचार आएंगे जिससे कार्य में सफलता प्राप्त होगी। शत्रु पक्ष निर्बल होगा, मित्रों-सज्जनों के सहयोग से स्थिति नियंत्रण में आएगी। मेहनत के अनुपात में सफलता प्राप्त होने से मन प्रसन्न रहेगा। रुके काम पूरे होंगे और मन की नकारात्‍मकता कम होगी।

कन्या राशि – आज यात्रा में असुविधा, वाहन चलाते समय सावधानी बरतें, चीजों को खोने से बचाने का विशेष ध्यान रखें, प्रिय वस्तु की हानि का योग, कठिन परिश्रम करना पड़ेगा। यात्रा में कष्ट एवं मानसिक पीड़ाएं हो सकती हैं। अज्ञात भय के कारण नींद की समस्या बनी रहेगी। रक्तचाप, हृदय रोग, उदर विकार, नेत्रविकार आदि होने की आशंका है।

तुला राशि – आज आसपास की यात्रा लाभ देगी। मित्रों के सहयोग से लाभ की स्थिति बनेगी, बुजुर्गों व साधु-संतों का आशीर्वाद भाग्योदय करेगा। परिश्रम करने से सफलता मिलेगी। किसी मांगलिक कार्य में भाग लेने का अवसर मिल सकता है। स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा।

वृश्चिक राशि – आज शुभ समाचार प्राप्‍त होंगे। मान-सम्मान में वृद्धि का योग है। , व्यस्तता बढ़ेगी, नए अवसर और नए लोगों से परिचय होगा, सक्रिय रहें, सुअवसर को हाथ से न जाने दें। अच्‍छे लोगों की संगति का असर आपके ऊपर देखने को मिलेगा। मन में अच्‍छे विचार आएंगे और भावनाएं अनुकूल रहेंगी।

धनु राशि – आज प्रेम में निराशा हाथ लग सकती है। भविष्य की चिंता सताएगी। संघर्ष अधिक करना पड़ सकता है। व्यर्थ की भागदौड़ रहेगी, मन दुविधा में रहेगा। प्रिय वस्तु की हानि का योग, कठिन परिश्रम करना पड़ेगा। वाद-विवाद से बचें। यात्रा में कष्ट एवं मानसिक पीड़ाएं हो सकती हैं।

मकर राशि – आज वाद-विवाद से बचें। अपने काम से काम रखें। मेहनत अधिक करनी पड़ सकती है। मन में निराशा हो सकती है। स्वास्थ्य के प्रति विशेष सावधानी बरतें। खानपान का ध्‍यान रखें। मानसिक और शारीरिक व्यथा बढ़ सकती है। सुखों में कमी के कारण घरेलू झगडे़ भी हो सकते हैं। जमीन-जायदाद संबंधी अनेक समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

कुंभ राशि – आज कार्यक्षेत्र में वृद्धि होगी। सोचे हुए कार्य पूर्ण होंगे। किसी बड़े अधिकारी का समर्थन प्राप्त होगा। अचानक लाभ से राहत महसूस होगी। मन में सुकून रहेगा कि आपके काम पूरे हो रहे हैं। सफलता एवं धन लाभ की स्थिति बन रही है। पूर्ण बुद्धि-विवेक का उपयोग कर लाभ के प्रतिशत में वृद्धि की जा सकती है।

मीन राशि – आज शुभ और अशुभ दोनों प्रकार के फल मिलेंगे। संघर्ष का अन्त सुखद् रहेगा। विरोधी षडयंत्र रचेंगे लेकिन कुछ बिगाड़ नहीं पाएंगे। दोस्‍तों से मदद मिलेगी। व्यवसाय या काम में बाधाएं उत्पन्न हो सकती हैं। कष्टकारी यात्राएं करनी पड़ सकती हैं। धन व मानहानि भी हो सकती है।

आचार्य धीरज द्विवेदी “याज्ञिक”
(ज्योतिष वास्तु धर्मशास्त्र एवं वैदिक अनुष्ठानों के विशेषज्ञ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here