रघुराज सिंह का सपा पर बड़ा आरोप कहा सपा में यादव परिवार के लोगों को या बिरादरी के लोगों को ही मौका मिलता है।

0
165

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के मैनपुरी की करहल से चुनाव लड़ने के ऐलान के अगले ही दिन सपा को झटका लगा है।

करहल से सपा नेता रघुपाल सिंह भदौरिया ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया और बीजेपी में शामिल हो गए। भदौरिया ने समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव पर निशाना भी साधा।

इतना ही नहीं उन्होंने अखिलेश यादव पर गंभीर आरोप भी लगाए हैं। रघुपाल भदौरिया ने कहा कि सपा में यादव जाति के लोगों को ज्यादा महत्व दिया जाता है।

भदौरिया समाजवादी पार्टी के प्रदेश सचिव भी रहे हैं। रघुराज सिंह भदौरिया ने कहा कि उन्होंने हमेशा समाजवादी पार्टी के लिए काम लिया है, लेकिन अखिलेश यादव ने उनकी एक न सुनी।

सपा से इस्तीफा देने वाले भदौरिया ने कहा, “मैं करहल से ग्राम प्रधान रहा हूं, वहां की जनता मेरे साथ है और मैं भाजपा उम्मीदवार के लिए काम करूंगा।”

दरअसल, गुरुवार को अखिलेश यादव के करहल से चुनाव लड़ने की पुष्टि होते ही भदौरिया ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया और शुक्रवार को वह भाजपा में शामिल हो गए।

इसके साथ ही ब्राम्हण समाज भी बीजेपी के साथ है। यूपी बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेई ने कहा, ब्राह्मणों को लेकर गलत प्रचार किया जा रहा है। यूपी का शत प्रतिशत ब्राम्हण समाज भाजपा के साथ है।

इसके साथ ही लक्ष्मीकांत वाजपेई ने एक बार फिर साफ कर दिया कि वे चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने कहा, मैंने 6 महीने पहले ही कह दिया था कि मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा। अपर्णा यादव के बीजेपी में शामिल होने पर उन्होंने कहा, जो परिवार से आएगा, उसे जगह दी जा रही है, हम परिवार नहीं तोड़ रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here