अबकी बार – किसकी सरकार? क्या यूपी-उत्‍तराखंड में लौट रही बीजेपी, गोवा में किसकी बन सकती है सरकार। विभिन्न चैनलों की सर्वे के अनुसार जानें कहां बनेगी किसकी सरकार।

0
172

पांच राज्‍यों में चुनाव को लेकर कुछ चैनलों ने सर्वे किया है। इसमें यूपी और उत्‍तराखंड दोनों ही राज्‍यों में बीजेपी पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बना सकती है। यूपी सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा हो चुकी है। ये सात चरण में होंगे। जिन पांच राज्‍यों में चुनाव होने वाले हैं, उनमें से चार में अभी बीजेपी सत्‍ता में है। ओपिनियन पोल 7,000 से ज्‍यादा लोगों की प्रतिक्रिया पर आधारित है। चुनाव की तारीखों के ऐलान से पहले और उसके बाद लोगों की राय ली गई।

यूपी चुनाव
यूपी में बीजेपी को 227-254 सीटें। ओपिनियन पोल में उत्‍तर प्रदेश में बीजेपी को कुल 403 सीटों में से 227-254 सीटें दी गई हैं। इस तरह वह आसानी से बहुमत पाते दिख रही है। समाजवादी पार्टी को 136-151, बीएसपी को 8-14, कांग्रेस को 6-11 और अन्य को 0-4 सीटें मिल सकती हैं।

जहां तक वोट शेयर का सवाल है तो बीजेपी को 39.4%, समाजवादी पार्टी को 34.6%, बीएसपी को 12.9%, कांग्रेस को 6.9% और अन्य को 6.1% मिलने के आसार हैं। जिला और विधानसभा क्षेत्र स्तर पर कार्यरत भाजपा नेताओं की टीम की निगरानी भाजपा की दिल्ली इकाई के पूर्व अध्यक्ष विजेंद्र गुप्ता और वर्तमान महासचिव दिनेश प्रताप सिंह करेंगे।

यूपी में तैनात दिल्ली भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा, जहां पार्टी चुनाव लड़ रही है, वहां मदद के लिए विभिन्न राज्यों के नेताओं को भेजने की प्रक्रिया सामान्य है। दिल्ली से उत्तराखंड और पश्चिमी यूपी की निकटता का मतलब है कि वहां काम करने वाले हमारे नेताओं का जमीनी स्तर पर कुछ प्रभाव होगा।

दिल्ली भाजपा के उपाध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा, अशोक गोयल देवराहा और सुनील यादव, प्रवक्ता विक्रम बिधूड़ी, आदित्य झा, मोहन लाल गोहरा और ब्रजेश राय, पूर्व महापौर जय प्रकाश जेपी यूपी में तैनात हैं।

उत्तराखंड चुनाव
उत्तराखंड में चुनाव प्रचार के लिए स्थानीय नेताओं के साथ समन्वय के लिए दिल्ली भाजपा के 60 नेताओं को तैनात किया गया है। अब हम आपको ये बताएंगे कि उत्तराखंड के ओपिनियन पोल के नतीजे क्या कहते हैं। पहाड़ी राज्‍य में बीजेपी को 44-50 सीट मिलने की उम्‍मीदउत्‍तराखंड में भी बीजेपी वापसी करते हुए दिख रही है।

सर्वे के मुताबिक, 70 सीटों वाली विधानसभा में पार्टी को 44 -50 सीटें मिल सकती हैं। वहीं, कांग्रेस को 12-15, आप को 5-8 और अन्य को 0-2 सीटें मिलने की उम्मीद है। पहाड़ी राज्‍य में 14 फरवरी को चुनाव होगा। बीजेपी में सीएम का पंसदीदा चेहरा पुष्कर सिंह धामी हैं।
सबसे ज्यादा 41 प्रतिशत लोग कांग्रेस नेता हरीश रावत को मुख्यमंत्री बनते हुए देखना चाहते हैं. हरीश रावत 2014 से 2017 के बीच तीन बार उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बन चुके हैं।

हालांकि कांग्रेस में टिकट बंटवारे और नेतृत्व को लेकर संगठन में उनके खिलाफ एक गुट भी बन चुका है। सबसे ज्यादा 41 प्रतिशत लोग कांग्रेस नेता हरीश रावत को मुख्यमंत्री बनते हुए देखना चाहते हैं। हरीश रावत 2014 से 2017 के बीच तीन बार उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बन चुके हैं।

हालांकि कांग्रेस में टिकट बंटवारे और नेतृत्व को लेकर संगठन में उनके खिलाफ एक गुट भी बन चुका है। लेकिन इसके बावजूद हमारे ओपिनियन पोल में वो मुख्यमंत्री की पहली पसंद बनकर उभरे हैं। मौजूदा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी इस सूची में दूसरे नम्बर पर हैं। मुख्यमंत्री पद के लिए वो 27 प्रतिशत लोगों की पसन्द हैं। पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री बने अभी 6 महीने ही हुए हैं। लेकिन जो बात नोट करने वाली है, वो ये कि पुष्कर सिंह धामी बीजेपी सरकार में मुखिया हैं।

लेकिन लोकप्रियता और CM की पहली पसंद के मामले में वो हरीश रावत से काफी पीछे हैं। तीसरे स्थान पर 15 प्रतिशत लोगों की पसंद के साथ बीजेपी के अनिल बलूनी हैं। आम आदमी पार्टी के कर्नल अजय कोठियाल मुख्यमंत्री पद के लिए 9 प्रतिशत लोगों की पसंद हैं। 2017 के चुनाव में बीजेपी को उत्तराखंड में पूर्ण बहुमत मिला था।

लेकिन इसके बावजूद पार्टी स्थिर सरकार नहीं बना सकी। 2017 से 2022 के बीच यानी पांच वर्षों में बीजेपी ने उत्तराखंड में कुल तीन बार मुख्यमंत्री बदले। ऐसा लगता है कि बार-बार मुख्यमंत्री बदलने से बीजेपी को थोड़ा नुकसान हुआ है। ओपिनियन पोल में हरीश रावत की लोकप्रियता, मौजूदा मुख्यमंत्री से ज्यादा होना यही दिखाता है।

गोवा चुनाव
गोवा की सभी 40 विधानसभा सीटों के लिए 14 फरवरी को मतदान होना है। भाजपा वर्तमान में गोवा में अपने 23 विधायकों के साथ शासन कर रही है क्योंकि चार विधायकों – माइकल लोबो, अलीना सल्दान्हा, कार्लोस अल्मेडा और प्रवीण जांटे – ने पार्टी और विधानसभा से इस्तीफा दे दिया।

पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल को अभी बीजेपी से टिकट नहीं मिला है, लेकिन उन्होंने गोवा में प्रचार शुरू कर दिया है। उन्होंने पहले मनोहर पर्रिकर के निर्वाचन क्षेत्र पंजिम में घर-घर जाकर प्रचार किया, जहां से वह टिकट की मांग कर रहे हैं। गोवा विधानसभा चुनाव में इस बार चौतरफा दिलचस्प मुकाबला होने की उम्मीद है। हालांकि चुनाव से पहले हुए ओपिनियन पोल में यहां फिर से बीजेपी की सरकार बनती दिख रही है।

वहीं आम आदमी पार्टी यहां किंगमेकर साबित हो सकती है जिसका पिछली बार खाता भी नहीं खुला था। आम आदमी पार्टी को यहां 7 से 11 सीट मिलती दिख रही है और वह मुख्य विपक्षी दल भी बन सकती है। कुल 40 सीटों में उसे करीब 17 से 21 सीटें मिलने के आसार हैं। वहीं, कांग्रेस को चार से 6 और आप को 8-11 सीटें मिलने की उम्‍मीद है।

अन्य को 3-5 सीटें मिलने की उम्मीद है। जहां तक वोट शेयर का सवाल है तो बीजेपी को 29.50 फीसदी वोट मिलने की उम्‍मीद है। एमजीपी को 5 फीसदी से अधिक वोट मिल सकते हैं। आप को 27.80 फीसदी वोट मिलने की उम्‍मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here