समाजवादी इत्र की ख़ुशबू फैलाने वाले कारोबारी पीयूष जैन के घर में बने तहखाने में 250 किलो चांदी, 25 किलो की सोने की सिल्लियां और नोटों से भरे 8 से 9 बोरे भी मिले।

0
230

ऐसा फिल्मों में ही देखने को मिलता है कि प्रशासन कहीं पर छापेमारी करता है और आरोपित के घर से उसे बेहिसाब धन मिलता है। लेकिन इस बार ऐसा वास्तविकता में हुआ है।

उत्तर प्रदेश के कानपुर में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर और दफ्तरों में पड़े आयकर विभाग के छापों से लगातार धनवर्षा हो रही है। समाजवादी इत्र की ख़ुशबू फैलाने वाले कारोबारी पीयूष जैन के घर में बने तहखाने में 250 किलो चांदी, 25 किलो की सोने की सिल्लियां और नोटों से भरे 8 से 9 बोरे भी मिले।

जिसमें 177 करोड़ रुपए का कैश मिला है। CGST और इनकम टैक्स विभाग की जाँच अभी जारी है। रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपित के यहाँ जाँच एजेंसी को कन्नौज वाले घर में एक तहखाना भी मिला है।

जिससे 250 किलो चांदी और 25 किलो सोने की सिल्लियां रखी थी। बरामद किए गए चांदी की कीमत करीब 1.75 करोड़ रुपए और सोने की कीमत करीब 12.5 करोड़ रुपए बताई जा रही है।

इसके साथ ही करोड़ों का चंदन तेल और परफ्यूम भी जब्त किया गया। आपको बता दें कि इतनी बड़ी रकम मिलने के बाद हवाला कारोबार की दिशा में भी जांच शुरू कर दी गई है।

जानकारी के अनुसार पीयूष जैन कानपुर, मुंबई, दिल्ली के अन्य कारोबारियों के साथ मिलकर लंबे समय से हवाला कारोबार में शामिल है। रिश्तेदार और ट्रांसपोर्टर प्रवीण जैन के जरिये रकम इधर से उधर भेजते थे। इसके लिए कमीशन भी सेट था। कमीशन कैश में दिया जाता था।

इसके चलते ही बेहद कम समय में बेशुमार दौलत जमा हो गई। डीजीजीआई की प्रक्रिया पूरी होने के बाद आयकर विभाग, ईडी, ईओडब्ल्यू या अन्य जांच एजेंसी भी जांच शुरू कर सकती हैं। साथ ही अहमदाबाद की टीम ने पीयूष जैन को आनंदपुरी स्थित आवास से शुक्रवार देर रात हिरासत में ले लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here