‘राइट विंग लड़ कर लेने को तैयार था, फिर कॉन्ग्रेस के भीख के कटोरे में क्यों मिली आज़ादी?’ जवाब दे दो। कंगना ने कहा – गलत साबित करें तो लौटा दूंगी पद्मश्री!

0
219

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और विवाद का रिश्ता बहुत गहरा है। ऐसा लगता है दोनों एक दूसरे के पूरक हैं.कंगना ने हाल ही में आजादी पर एक विवादित बयान के बाद पॉलिटिकल पार्टीज के साथ-साथ सोशल मीडिया पर कई लोग उनके पीछे पड़ गए हैं। उन्होंने इंस्टाग्राम पर स्टोरी लगा अपने बयान पर सफाई दी है।

तमाम विपक्षी दलों के नेता उनके इस बयान का विरोध करते हुए उनका पद्मश्री सम्मान वापस लेने की बातें कर रहे हैं। कंगना रनौत ने कहा कि 1857 का तो उन्हें पता है, लेकिन अगर कोई उनके सामने ये सिद्ध कर देगा कि 1947 में कौन सा युद्ध हुआ था, तो वो अपना पद्मश्री वापस करने के लिए तैयार हैं।

उन्होंने कहा कि उस स्थिति में वो माफ़ी भी माँग लेंगी। कंगना रनौत ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी में लिखा कि उन्होंने बलिदानी लक्ष्मीबाई की फिल्म में काम किया है, ऐसे में उन्होंने 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम को लेकर काफी रिसर्च किया है।

राष्ट्रवाद के साथ दक्षिणपंथ का भी उभार हुआ लेकिन अचानक से ये गायब कैसे हो गया? और गांधी ने भगत सिंह को क्यों मरने दिया। आखिर क्यों नेता बोस की हत्या हुई और उन्हें गांधी जी सपोर्ट क्यों नहीं मिला। क्यों बंटवारे की रेखा अंग्रेज द्वारा खींची गई आजादी की खुशियां मनाने के बजाय भारतीय एक दूसरे को मार रहे थे।

मुझे इन सभी सवालों के जवाब चाहिए जिसके लिए मुझे मदद की जरूरत है। उनका मानना है कि उस दौरान राष्ट्रीयता और दक्षिणपंथ, दोनों ऊँचा उठ रहा था। बता दें कि उनके इस बयान पर हर तरफ आलोचना हो रही है।

के जगह तो उन पर एफआईआर भी कर दिया गया है । कई पॉलिटिकल पार्टीज का कहना है कि उनपर देशद्रोह का मुकदमा चलाया जाए। कंगना ने साफ कहा कि वो माफी मांगने और पद्मश्री वापस करने को तैयार हैं अगर उन्हें गलत साबित कर दिया जाए तो। लगातार हो रहे विवाद के बीच कंगना ने लंबी इंस्टाग्राम स्टोरी लगा कर अपने बयान को सही बताया है।

कंगना रनोट ने कहा, ‘जहां तक ​​​​2014 में आजादी का सवाल है, मैंने विशेष रूप से कहा था कि भौतिक आजादी हमारे पास हो सकती थी लेकिन भारत की चेतना और विवेक 2014 में मुक्त हो पाए। कंगना ने ये भी कहा कि , ‘आज पहली बार अंग्रेजी में न बोलने या छोटे शहरों से आने या भारत में बने उत्पादों का उपयोग करने के लिए लोग हमें शर्मिंदा नहीं कर सकते।

मैंने सबकुछ एक ही इंटरव्यू में साफ कर दिया था। लेकिन जो आरोपी हैं उनकी तो जलेगी। कोई बुझा नहीं सकता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here