उत्‍तर प्रदेश में पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय की जयंती गरीब कल्‍याण दिवस सेवा और समर्पण अभियान के तौर में मनाई जा रही है !

0
392

भारत में हर साल 25 सितंबर को अंत्योदय दिवस मनाया जाता है। अंत्योदय दिवस पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के रूप में मनाया जाता है। आज के दिन देश में गरीबों के उत्थान में तमाम अंत्योदय योजनाएं चल रही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि दी है। भारत में प्रत्येक वर्ष 25 सितंबर को अंत्योदय दिवस मनाया जाता है।

यह दिवस पंडित दीनदयाल उपाध्याय जयंती के तौर पर मनाया जाता है। पंडित दीनदयाल एक हिंदुत्ववादी विचारक और भारतीय राजनीतिज्ञ थे। उन्होंने हिंन्दू शब्द को धर्म के तौर पर नहीं बल्कि भारतीय संस्कृति के रूप में परिभाषित किया। वे आरएसएस से भी जुड़े रहे। इनकी माता रामप्यारी और पिता भगवती प्रसाद उपाध्याय धार्मिक प्रवृति के थे। लखनऊ, भारत में हर साल 25 सितंबर को अंत्योदय दिवस मनाया जाता है। अंत्योदय दिवस पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के रूप में मनाया जाता है। आज के दिन देश में गरीबों के उत्थान में तमाम अंत्योदय योजनाएं चल रही हैं।

राज्यों की बात करें तो उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधा मोहन सिंह और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह शनिवार को पंडित दीनदयाल उपाध्याय जयन्ती पर दीन दयाल स्मृतिका जाकर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। पार्टी पंडित दीन दयाल उपाध्याय की 105वीं जयन्ती पर प्रत्येक बूथ पर श्रद्धांजलि अर्पित करेगी। उत्‍तर प्रदेश में, पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय की जयंती को गरीब कल्‍याण दिवस के रूप में मनाया जा रहा है।

सरकार ने पूरे राज्‍य में प्रखंड स्‍तर पर गरीब कल्‍याण मेलों का आयोजन किया है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने गोरखपुर जिले में ऐसे ही एक गरीब कल्‍याण मेले का उद्घाटन किया। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि राज्‍य सरकार गरीबों के कल्‍याण के प्रति वचनबद्ध है। श्री आदित्‍यनाथ ने बताया कि पार्टी, जनसेवा में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के जीवन के बीस वर्षों को सेवा और समर्पण अभियान के तौर पर मना रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here